A Chalukyan Journey

In my middle school history book, a line appeared in a chapter on Harshavardhana of Kannauj’s Chakravarti ambitions. On his way across the Vindhyas, Harsha met a...

बापी दास का क्रिसमस

यह निबंध नहीं बल्कि कलकत्ते में रहने वाले एक युवा, बापी दास का पत्र है जो उसने इंग्लैंड में रहने वाले अपने एक नेट-फ्रेंड को लिखा था....

Scientific thoughts in Vaidika Philosophy – 2

In the Part-1 we discussed about different Indian philosophies and how nyaaya and vaisheshika formed the base of logical scientific thinking. We also discussed how vaisheshika proposed...

भक्ति शक्ति युक्ति आगार…

किसी घनघोर मजबूरी में, घटाटोप भुच्च अनहरिया रात में, सुनसान सड़क पर एकदम अकेले, कहीं चले जाय रहे हों,सन्नाटे का साँय साँय कान सुन्न कर रहा हो,...